Latest Post

10/recent/ticker-posts

Nuclear Power Plant in India |नाभिकीय पॉवर प्लांट KV Guruji

नमस्कार दोस्तों, kvguruji.in पर आप सभी का स्वागत है |इस लेख में RRB NTPC परीक्षा के लिए अति महत्वपूर्ण टॉपिक के तहत भारत में परमाणु ऊर्जा परमाणु ऊर्जा संयंत्र  के बारे में डिस्कस करेंगे |इस लेख की PDF आप नीचे दिए गए प्रिंट बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं |

परमाणु उर्जा [Nuclear Energy]


जब नाभिकीय अभिक्रियाओ के परिणामस्वरूप प्राप्त होती है तो उसे नाभिकीय ऊर्जा या परमाणु ऊर्जा के रूप में जाना जाता है

नाभिकीय अभिक्रिया दो प्रकार की होती है

1 नाभिकीय विखंडन [Nuclear Fission]

2 नाभिकीय संलयन [Nuclear Fusion]


भारत में नाभिकीय ऊर्जा

1948 में परमाणु ऊर्जा आयोग 1954 में परमाणु ऊर्जा विभाग की स्थापना की गई

 

भारत में कुल 5 अनुसन्धान केंद्र हैं

1 - भाभा परमाणु अनुसन्धान केंद्र मुम्बई

2 इंदिरा गाँधी परमाणु अनुसन्धान केंद्र कलपक्कम

3 Centre for Advanced Technology – इंदौर

4 Variable Energy Cyclotron Centre – कोलकाता

5 Atomic Minerals Directorate for Exploration & Research - हैदराबाद

नाभिकीय ऊर्जा भारत में बिजली उत्पादन के लिए कोयला, गैस, जल-विद्युत पवन ऊर्जा के बाद 5वाँ सबसे बड़ा स्त्रोत है

वर्तमान में भारत में कुल 7 नाभिकीय पॉवर प्लांट में 22 नाभिकीय भट्टी संचालित हैं

कुल क्षमता – 6780MW

 

नाभिकीय रिएक्टर

बॉम्बे परमाणु शोध संस्थान के ट्रोम्बे परिसर में एशिया के पहले नाभिकीय रिएक्टर अप्सरा की 4 अगस्त, 1956 को स्थापना की गई [PM नेहरु द्वारा 20 जनवरी 1957 को उद्घाटन]

UK की सहायता से स्थापित किया गया था

2010 में संचालन बंद, पुनः सितम्बर 2018 में अप्सरा उन्नत के नाम से संचालन की शुरुआत की गई थी

KAMINI – Kalpakkam Mini Reactor

BARC द्वारा Indira Gandhi Centre for Atomic Research की सहायता से डिजाईन निर्मित

स्थापना 29 अक्टूबर, 1966 [U-233 का प्रयोग करने वाला विश्व का पहला रिएक्टर]

परमाणु ऊर्जा संयंत्र

भारत में कुल 7 परमाणु ऊर्जा संयंत्र कार्यशील हैं

 

1 – तारापुर परमाणु ऊर्जा संयंत्र [महाराष्ट्र]

स्थापना 28 अक्टूबर, 1969 [निर्माण - 1961]

अमेरिका की सहायता से स्थापित भारत का पहला परमाणु उर्जा संयंत्र

यूनिट्स 2X160MW तथा 2X540MW

महाराष्ट्र के तारापुर में स्थित 1400MW की क्षमता का पॉवर प्लांट है

 

2 - रावतभाटा परमाणु ऊर्जा संयंत्र [राजस्थान]

स्थापना 16 दिसम्बर 1973 [निर्माण 1963]

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ जिले के रावतभाटा में स्थित [कनाडा]

यूनिट्स1X100MW, 1X200MW तथा 4X220MW

निर्माणाधीन 2X700MW

 

3 – कलपक्कम परमाणु ऊर्जा संयंत्र [तमिलनाडु]

स्थापना 24 जनवरी 1984

तमिलनाडू की राजधानी चेन्नई से 80 किमी दक्षिण कलपक्कम में स्थित भारत का पहला पूर्णतया स्वदेशी पॉवर प्लांट है

यूनिट्स 2X235MW

 

4 – नरौरा परमाणु ऊर्जा संयंत्र [उत्तर प्रदेश]

स्थापना 1 जुलाई, 1991

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के नरौरा में स्थित है

यूनिट्स 2X220MW

 

5 - काकरापार परमाणु ऊर्जा संयंत्र [गुजरात]

स्थापना 16 नवम्बर, 2000 [निर्माण 1989]

 कर्नाटक के उत्तरी कन्नड़ जिले में काली नदी के किनारे स्थित है

यूनिट्स 4X220MW

 

6 - कैगा परमाणु ऊर्जा संयंत्र [कर्नाटक]

स्थापना 16 नवम्बर, 2000 [निर्माण 1989]

 कर्नाटक के उत्तरी कन्नड़ जिले में काली नदी के किनारे स्थित है

यूनिट्स 4X220MW

 

7 – कुडनकुलम परमाणु ऊर्जा संयंत्र [तमिलनाडु]

स्थापना 22 अक्टूबर 2013

रूस की Atomstroyexpert कंपनी की सहायता से तमिलनाडू के तिरुनेलवेली जिले के कुडनकुलम में स्थित है

यूनिट्स 2X1000MW [सबसे बड़ा]

                                                       

भारत में परमाणु परीक्षण

पोखरण I - Smiling Buddha कोड नाम से 18 मई 1974 को भारत का पहला परमाणु परीक्षण

पोखरण II ऑपरेशन शक्ति के नाम से 11 मई 1998 को परीक्षण

नाभिकीय प्रोग्राम के जनक होमी जे भाभा

 

भाभा परमाणु शोध केंद्र

BARC Bhabha Atomic Research Center

स्थापना3 जनवरी, 1954

मुख्यालयमुम्बई, महाराष्ट्र

संस्थापकहोमी जे भाभा

अध्यक्ष डॉ अजीत मोहंती

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ